कुंडली के एकादश भाव में मंगल का प्रभाव

कुंडली के एकादश भाव में मंगल का प्रभाव


1)कुंडली के एकादश भाव में मंगल का प्रभाव जानने के लिए सर्वप्रथम हम मंगल और एकादश भाव के कारक के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।


2) एकादश भाव में स्थित मंगल बली माना जाता है। मंगल काल पुरुष का लग्नेश है अतः एकादश भाव में यह कुंडली के बल को बढ़ाता है। जैसा कि हम जानते हैं नैसर्गिक पापी ग्रह उपचय भाव में शुभ फल देते हैं अतः एकादश भाव में स्थित मंगल जातक के लिए अच्छा माना जा सकता है।


3) मंगल एक्शन का कारक ग्रह है, अत: एकादश भाव में स्थित मंगल जातक को क्रियाशील बनाता है। जातक को अपने कार्यों से लाभ प्राप्त होता है। मंगल रियल स्टेट से संबंधित होता है, अतः एकादश भाव से में स्थित मंगल जातक को प्रॉपर्टी से लाभ दिलाता है। जातक एग्रेसिव स्वभाव का हो सकता है, जातक रुखा वचन बोलने वाला या स्वभाव से क्रूर हो सकता है। जातक अपनी पावर और क्षमता को साबित करने में विश्वास रखने वाला व्यक्ति हो सकता है।


4) एकादश भाव में स्थित मंगल जातक को बहादुर और शारीरिक क्षमता में पूर्ण बनाता है। जातक अपनी मंगल की दशा या अंतर्दशा में नेम फेम और पावर प्राप्त कर सकता है। जातक डांसिंग, गायन या संगीत के क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर सकता है। जातक उच्च पद पर आसीन व्यक्तियों के मध्य प्रसिद्ध हो सकता है।


5) एकादश भाव में स्थित मंगल जातक को धनी बनाता है । जातक अपने क्षमता और मेहनत की बदौलत अतुलित धन अर्जित करेगा। जातक प्रॉपर्टी से धन अर्जित करेगा।


6) एकादश भाव में स्थित मंगल जातक को सट्टेबाजी में इंटरेस्ट देता है। जातक प्रॉपर्टी में रिस्क ले सकता है और इसके कारण जातक को लाभ भी होने की संभावना रहती है।


7) एकादश भाव में स्थित मंगल संतान से संबंधित समस्या दे सकता है। जातक को संतान होगा पर संतान की संख्या कम हो सकती है। जातक को सर्जरी से संतान होने की संभावना होती है।


8) उत्तम स्थिति में स्थित मंगल जातक को रोग मुक्त जीवन देता है। सामान्यतः एकादश भाव में स्थित मंगल जातक को मानसिक परेशानी दे सकता है। जातक को एक्सीडेंट या तेज धारदार हथियार से या अग्नि से खतरा हो सकता है ।जातक के अनेक शत्रु हो सकते हैं पर जातक शत्रु पर विजय प्राप्त करेगा। लेकिन शत्रु ‌से परेशानी तो होगी।


9) जातक को अपने मामा से लाभ प्राप्त होने की संभावना होती है। जातक अचानक से अप्रत्याशित सफलता प्राप्त कर सकता है। जातक चतुर और बुद्धिमान होगा। जातक बातचीत में एक्सपर्ट होगा और एग्रेसिव स्पीकर हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *