कुंडली के दशम भाव में राहु का प्रभाव

कुंडली के दशम भाव में राहु का प्रभाव

1)कुंडली के दशम भाव में राहु का प्रभाव जानने के लिए सर्वप्रथम हम राहु और दशम भाव के नैसर्गिक कारक के संदर्भ में जानकारी प्राप्त करेंगे।

2) दशम भाव जातक की जीविका या प्रोफेशन का भाव होता है। राहु विदेशी वस्तुएं, आधुनिक या अपारंपरिक चीजें, कला से संबंधित, सिनेमा से संबंधित कार्य से संबंधित होता है। अतः दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक कलाकार हो सकता है, लेखक हो सकता है, एक्टर हो सकता है, या कवि भी हो सकता है। दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक कंप्यूटर से संबंधित कार्य भी कर सकता है। दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक इंपोर्ट एक्सपोर्ट का बिजनेस कर सकता है। दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक को उच्च कोटि के रिस्क लेने की क्षमता होती है। दशम भाव में राहु के कारण जातक व्यापार करने को ज्यादा उत्सुक होगा। जातक लोगों को छल करके फ्रॉड करके या अपने मीठे मीठे बातों में फंसा कर के पैसा कमाता है। जातक के छिपे हुए स्त्रोत्र से भी इनकम हो सकती है। दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक ड्रग्स या शराब से संबंधित कार्य भी कर सकता है। जातक अवांछित गैर कानूनी कार्य भी कर सकता है। परंतु वास्तविक रिजल्ट राहु के दशम भाव की राशि और उसके स्वामी पर निर्भर करेगा।

3) दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक की संतान की संख्या कम होती है। जातक अपने पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में असंतुष्ट होता है। जातक अपने प्रोफेशनल लाइफ में और अत्यधिक सफलता प्राप्त करने की इच्छा रखता है। जातक अपने पारिवारिक जीवन में भी संतुष्ट नहीं रहता है। इस कारण जातक शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करता है। जातक की असंतुष्ट इच्छाएं जातक को मानसिक तनाव देती है। अतः जातक शांत चित्त दिमाग का व्यक्ति नहीं रह पाता है चाहे वह प्रोफेशनल लाइफ हो या पर्सनल लाइफ हो।

4) दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक कामुक प्रवृत्ति का व्यक्ति होता है। जातक मे यौन इच्छाएं ज्यादा होती है। जातक बुरी चरित्र की औरत या विधवा औरत के साथ संबंध बनाने को उत्सुक होगा। जातक नीच कर्मों में लिप्त हो सकता है।

5) दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक निर्भिक और बहादुर प्रवृत्ति का व्यक्ति होता है। जातक विद्वान व्यक्ति हो सकता है जातक की कल्पना शक्ति उत्तम होगी, जिसके कारण जातक एक कल्पना से संबंधित कार्यों में सफलता प्राप्त करेगा। जातक प्रसिद्ध व्यक्ति होगा। दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक अपने प्रोफेशन में सफलता प्राप्त करने में बाधा प्राप्त करेगा। जातक का प्रोफेशनल लाइफ उतार-चढ़ाव से परिपूर्ण होता है।

6) दशम भाव में स्थित राहु के कारण जातक राजनीति में सफलता प्राप्त कर सकता है। जातक राजनीति विषयों पर अच्छी जानकारी रखने वाला व्यक्ति हो सकता है। जातक के संबंध राजनीतिज्ञ से हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *