मंगल देव सभी ग्रह के सेनापति

मंगल ग्रह

image

1)ग्रह स्थिति– सेनापति

2) राशि स्वामी – मेष और वृश्चिक

3)दृष्टि – स्वयं से सप्तम भाव से और विशेष दृष्टि स्वयं से 4th और 8th भाव

4) उच्च राशी – मंगल ग्रह 28 डिग्री @ मकर में उच्चतम होता है।

5) नीच राशी – मंगल ग्रह 28 डिग्री @ कर्क राशी  में नीचतम होता है।

6) मूल त्रिकोना राशि – 0 से 12 डिग्री से मेष राशि में हाेता है। उसके बाद 30 डिग्री तक मेष राशी मे अपना राशी होता है।

7) मंगल ग्रह एक तामसिक (तमो गुण) ग्रह है।

8) मित्र ग्रह – सूर्य चंद्रमा बृहस्पति

9) तटस्थ ग्रह – शुक्र शनि

10) शत्रु ग्रह-बुध

11) मंगल ग्रह का दिन  मंगलवार है।

12) मंगल ग्रह का मौसम ग्रिष्म मौसम है।

13) मंगल ग्रह एक अग्नि तत्व ग्रह है ।

14) मंगल ग्रह सूखा ग्रह पर विचार किया जाता है।

15) मंगल ग्रह  पुरुष ग्रह है।

16) मंगल ग्रह क्षत्रिय वर्ण है।

17) मंगल चार पैर वाले (चौपाया)वश्य का प्रतिनिधित्व करते है।

18) मंगल अकार्बनिक पदार्थ, खनिज, अजैविक पदार्थ पर शासन करते है।

19) दोष- पित्त दोष
20) शरीर के अंग- मसल्स स्नायु छाती

21) आयु- परिपक्वता उम्र – 28 साल,
आयु अवधियों-  42-56,
व्यक्ति उम्र – युवा बच्चे जो स्कूल जाते है।

22) वस्त्र – तरह तरह रंग बिरंग

23) रंग- चमकदार लाल

24) दिशा-दक्षिण

25) दूरी- शास्त्रीय पुस्तक के अनुसार 7योजन (दूरी मध्यम)

26)स्वाद -तीखे स्वाद

27) मंगल लाल फूल, मजबूत पेड़ / कांटेदार पेड़ पर शासन करता है ।

28) मंगल ग्रह का भोजन  लाल मसूर (मसूर की दाल), कॉफी, चाय, लहसुन,कड़ा शराब, कड़ा गंध का भोजन, प्रोटीन युक्त भोजन, मांस, खाद्य उत्साहित और जुनून पैदा करने वाले भोजन, धनिया, सरसो, मिर्च, मिर्च,आदि

29)आकार– बेलनाकार

30) मंगल ग्रह ऊपर की ओर नजर रखता है।

31) मंगल ग्रह का धातु ताँबा और रत्न मूंगा है।

32) कद – लघु है।

33) मंगल ग्रह पादोदय ग्रह है।

34) मंगल ग्रह प्राकृतिक क्रूर ग्रह है ।

35) नीति – मंगल दंड नीति है।

36) मंगल ग्रह  शारीरिक शक्ति और भाई बहन के कारक है।

37) मंगल सिंह और कर्क राशी के लिए योगकारक है।

38)स्वाभव – हिंसक,फूर्तिला, गुस्सा, बिना समझे बुझे काम करना

39) मंगल ग्रह किसी तरह से विकृत की साथ देता हैा

40) स्थान – आग और बिजली के भारी इस्तेमाल किये जानेवाले, जैसे रसोई, उद्योग के पास आगवाले स्थानों, मशीन शॉप या यांत्रिक जगह, जला हुया क्षेत्र, युद्ध क्षेत्र, सैन्य क्षेत्र, पुलिस क्षेत्र, मुक्केबाजी और कुश्ती, लड़ाई के रूप में खेले जानेवाले क्षेत्र, शक्ति या फूर्ति की जरूरत वाले जगह , जहां लोगों को उग्रता और शारीरिक क्षमता की जरूरत हो, कसाई घर, प्रयोगशालाओ, फुटबॉल स्टेडियम, कराटे, सैन्य छावनी,

41) पेशा – पुलिस, सेना, सैन्य, रियल एस्टेट, धातु और मशीनरी , मुक्केबाजी, कुश्ती, शारीरिक लड़ाई वाले खेल, अग्नि और ऊर्जा नौकरियां, भोजन बनाने के पेशा, फायर फाइटर, बिजली से सम्बन्धित, कसाई आदि पेशे से जुड़ी काटने या ़े हिंसा से सम्बन्धित , सर्जन , हथियार फैक्ट्री, साहसिक नौकरियों, खतरनाक काम, जासूस और चोर जैसे दुष्ट लोगों के साथ सम्बन्धित, आदि

42) मनोविज्ञान- जुनून, लक्ष्य, शक्ति, साहस, योद्धा, प्रतिस्पर्धी और लड़ाई, क्रोध, चिड़चिड़ापन, जल्दबाजी, अधीरता, सभी या कुछ भी नहीं मनोवृत्ति

43)रोग- ओवर हीटिंग, बुखार, यकृत की शिकायतों, त्वचा, अल्सर, संचालन,त्वचा से सम्बन्धित शिकायतें ,हीमोग्लोबिन की समस्या, सर्जरी,

44) दसावतार -नरसिंह अवतार

45)देवता- सुब्रमण्यम स्वामी, हनुमान जी, कार्तिकेय

46)समय – एक सप्ताह अवधि

If you want to read in English then click this .

One comment

Leave a Reply to Rahul Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *