चंद्रमा ग्रहो की रानी

चंद्रमा (चंद्रमा) 1)स्थिति- ग्रहो की रानी 2)राशि -कर्क राशी का स्वामी 3)पूर्ण दृष्टि- स्वयं से सप्तम भाव 4) उच्च राशी – वृषभ राशी , उच्च डिग्री 3 डिग्री 5) नीच राशी- वृश्चिक राशी, निच डिग्री 3 डिग्री 6) मूल त्रिकोना राशि 3डिग्री के बाद वृषभ में 30डिग्री तक होता है। 7) स्वयं की राशि कर्क है। 8) मित्र ग्रह -सूर्य, बुध 9) तटस्थ ग्रह -शुक्र ,शनि ,मंगल ,बृहस्पति 10) कोई ग्रह चंद्रमा के लिए शत्रु नही है। 11) दिन सोमवार है 12) मौसम वर्षा मौसम 13) चंद्रमा जलीय ग्रह  है 14) चंद्रमा का गुण सतगुण है 15) चंद्रमा वैश्य वर्ण […]

» Read more

सूर्य सभी ग्रह के राजा

           सूर्य 1)सभी ग्रह का राजा2)राशि स्वामि सिंह 3) उच्च का10 डिग्री @ मेष राशी मे4) नीच का10degree @ तुला राशी मे5) मूल त्रिकोना राशि 0 डिग्री से 20 से सिंह राशि में उसके बाद 20 डिग्री से 30 डिग्री तक अपना घर6) पूर्ण दृष्टि स्वयं से 7th भाव7) मित्र ग्रह  चंद्रमा, मंगल, बृहस्पति8) तटस्थ ग्रह  बुध9) शत्रु ग्रह  शुक्र और शनि10) तत्व – अग्नि तत्व11) दोष-पित्त11) प्राकृतिक कारक -पिता का12) प्राकृतिक कारक – प्रसिद्धि, सिर, हड्डियों, स्वास्थ (तनु भाव), नवम भाव (पिता का) में,दसवा भाव (प्राधिकरण,सरकार )13) आयु परिपक्वता-22 साल उम्र अवधि-23 साल से 41साल, व्यक्ति […]

» Read more
1 23 24 25