राहु देव कल्पना लोक के स्वामी

               राहु देव 1) स्थिति -असुर 2)राशी स्वामी- किसी भी राशि का स्वामी नही है।लेकिन वह खुद की दशा मे भाव स्वामी की तरह व्यवहार करता है। राहु को छद्म ग्रह माना जाता है। 3)दृष्टि – 5th और 9th भाव स्वयं से 4) उच्च राशी – वृष  राशि (या मिथुन राशी) 5) नीच राशी – वृश्चिक राशि( या धनु राशी), 6) मूलत्रिकोना राशी- कन्या राशी , अपना घर – कुम्भ राशी 7) मित्रता- शनि के समान क्याेंकि राहु शनि के समान व्यवहार करता है। राहु का मुख्य शत्रु चंद्रमा और सूर्य है । 8) दिवस -अमावस्या और शनिवार को 9 […]

» Read more