कुंडली के पंचम भाव में मंगल का प्रभाव

कुंडली के पंचम भाव में मंगल का प्रभाव 1) कुंडली के पंचम भाव में मंगल का प्रभाव जानने से पहले सर्वप्रथम हम कुंडली के पंचम भाव और मंगल के कारक के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। 2) पंचम भाव संतान से संबंधित भाव होता है‌। मंगल एक पापी ग्रह है। यदि मंगल पंचम भाव में पीड़ित हो तब जातक को संतान उत्पत्ति में परेशानी दे सकता है। अगर मंगल पंचम भाव में एक से ज्यादा पापी ग्रह से पीड़ित हो तब हम कह सकते हैं कि जातक को गर्भपात की समस्या हो सकती है। जातक का अपनी संतान के साथ […]

» Read more