तृतीय भाव में शनि का प्रभाव

तृतीय भाव में शनि का प्रभाव 1) कुंडली के तृतीय भाव में शनि का प्रभाव जानने के लिए सर्वप्रथम हम तृतीय भाव और शनि के नैसर्गिक कार्यक्रमों के संदर्भ में जानकारी प्राप्त करेंगे। 2) ऐसी मान्यता है कि पापी ग्रह तृतीय भाव में उत्तम रिजल्ट देते हैं। शनि एक नैसर्गिक पापी ग्रह है, अतः हम कह सकते हैं कि तृतीय भाव में स्थित शनि शुभ फल देने में सक्षम है। जातक बहादुर निर्भीक और उत्तम शारीरिक शक्ति वाला व्यक्ति होगा। जातक की मानसिक क्षमता भी अच्छी होगी। जातक चतुर और निडर होगा। जातक दयालु प्रवृत्ति का व्यक्ति होगा। जातक लोगों […]

» Read more