कुंडली के पंचम भाव में चंद्रमा का प्रभाव

कुंडली के पंचम भाव में चंद्रमा का प्रभाव 1)कुंडली के पंचम भाव में चंद्रमा का प्रभाव जानने के लिए सर्वप्रथम हम चंद्रमा और पंचम भाव की कारक के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। 2) पंचम भाव संतान से संबंधित भाव होता है, चंद्रमा एक स्त्री कारक ग्रह है।‌अतः पंचम भाव में स्थित चंद्रमा जातक को पुत्री संतान के रूप में देगी, ऐसा माना जाता है। पंचम भाव में उत्तम स्थिति में स्थित चंद्रमा जातक को संतान का उत्तम सुख देगा। जातक के संतान की संख्या उत्तम होगी। जातक के बच्चे अच्छे और दयालु प्रवृत्ति के होंगे। अगर चार्ट में कोई […]

» Read more